Hosting in Hindi

Theory of Web Hosting in Hindi

What is Web Hosting? in Hindi.

Web+Hosting = वेब साइट की मेजबानी करना यानी Website को online activity के लिये तैयार (Ready) रखना ही वेब होस्टिंग है। जब हम अपने Computer पर वर्क करते हैं तो सभी Files Personal Computer की Hard Disk में सेव हो जाती हैं। और जब हमें दोबारा उन Files की जरूरत होती है तो PC की Hard Disk से उनको Access किया जा सकता है। यहाँ पर हमारे PC ने Files को हार्ड डिस्क पर Host किया हुआ है। और जरूरत पड़ने पर हमें Files Serve करता है।

इन Files को Network Sharing के द्वारा किसी Other Computer से भी एक्सैस किया जा सकता है लेकिन इसके लिए हमें हमारा PC 24 Hours Running रखना पड़ेगा जो की बहुत ही Costly व Unsecured होगा। इसके लिए कई Companies हमें हमारी Files को अपने Servers पर Save/Host करने की अनुमति प्रदान करती हैं। Website भी एक तरह से Files का संग्रह हैं जो की Web Pages के रूप में होता है। इन Files /Websites को DNS (Domain Server Name) के द्वारा Access किया जाता है।इसके लिए Users से Save करने व Online Availability के लिए Charge लिया जाता है बस यही Hosting होती है।

How Many Types of Web Hosting are Available?

वेब होस्टिंग मुख्य रूप से तीन प्रकार की होती हैं

    1. Shared Web Hosting:
    2. VPS Hosting
    3.  Dedicated Server Hosting  

Shared Web Hosting:

Shared Hosting
Shared Hosting

Share का मतलब बाँटना इसमें एक Main Server होता है जिसको बहुत सारे Users को Website Host करने के लिए बाँट दिया जाता है। यानि कई Internet User एक ही physical server पर अपनी Hosting करनी होती है । अपनी Websites और Files को सेव करने के साथ-साथ कई Other Resources Like Bandwidth, Random Access Memory (RAM), CPU, Disk Space आदि भी एक निश्चित मात्रा (Limited Quantity) में होस्टिंग एजेंसी द्वारा Provide किए जाते हैं।  एक ही Big Server को कई Users में Share होने के कारण यह होस्टिंग सस्ती (Not Expensive) होती है। नये Bloggers and Website Makers के लिए यही होस्टिंग सबसे अच्छी होती है।

VPS Hosting:

VPN hosting
VPN Hosting

Full Form of VPS is Virtual Privet Server है। इसमें भी एक बड़ा सर्वर (Big Server) होता है जो की Virtually Technique के द्वारा कई Many Sub Server में बाँट दिया जाता है। और इन Mini Privet Server पर Users अपनी Websites and Files को Online Running के लिए होस्ट करते हैं। इसमें Benefit ये होता है की Users को Hosting के लिए छोटा Privet Server मिलने के साथ-साथ Others Resources भी Separately मिलते हैं जिससे उसको Online Data Transfer करने या website Running में बहुत अच्छी Speed मिलती है। जिन website की High Traffic होती है उनको VPS Hosting Use करना चाहिये। This Hosting is Costly then Shared Hosting But Cheaper than Dedicated Server Hosting.

Dedicated Server Hosting: 

Dedicated Server Hosting
Dedicated Server Hosting

 इस प्रकार की होस्टिंग में User को पूरा सर्वर ही Provide किया जाता है जिस पर उसका Total Control रहता है। Other Resources जो की website Running के लिए जरूरी होते हैं पर भी उसका सम्पूर्ण अधिकार होता है। और इसके Processing and Maintenance का खर्चा भी User को ही उठाना पड़ता है। इस प्रकार की होस्टिंग बहुत ही सुरक्षित होती है यानि यह एक Powerful Secured Hosting है जिसका उपयोग ज़्यादातर E COM websites और सुरक्षा से जुड़ी वैबसाइट करती हैं ।

Free Hosting:

आजकल बहुत सारी कम्पनियाँ Free Hosting भी Provide करती हैं जिस पर Website Creator and Blog Maker अपनी साइट और ब्लॉग को FREE Host कर सकते हैं। लेकिन इस होस्टिंग में Limited Features of Hosting Provide किए जाते हैं उसे अपनी मर्जी के हिसाब से अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के Template आदि में बदलाव की Permission नहीं होती है। फ्री होस्टिंग पर होस्ट की गई वेबसाइट पर कई कम्पनियाँ तो अपने Ads Show करती हैं ताकि वो अपनी Costing of Hosting निकाल सकें।

फ्री होस्टिंग में User को Sub Domain Provide किया जाता है जैसे mysite.xyz.com लेकिन कुछ provider आपको Top Level Domain या Second Level Domain Use करने की छुट भी देते हैं जैसे www.mysite.com

Free Hosting Provider
Free Hosting Provider

Top Free Hosting Provider

फ्री होस्टिंग प्रदान करने वाली कुछ कम्पनियों के उदारहण नीचे दिये गये हैं

  1. Blogger
  2. WordPress
  3. Wix
  4. Weebly
  5. And many More
Windows Hosting and Linux Hosting :

Windows and Linux दोनों अलग-अलग Operating System हैं। Windows Microsoft कम्पनी का है तथा Linux Open Source Operating System है। जब हम Windows Hosting Buy करते हैं तो हमें इसके लिए ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं क्योंकि यह एक कम्पनी का Product है जबकि Linux Hosting के लिए कम पैसे देने पड़ते हैं क्योकि यह Open Sources सॉफ्टवेर है। Windows Hosting को ज्यादा Secure माना जाता है लेकिन Users के उपयोग करने के अनुभव में दोनों में कोई खास फर्क नहीं होता है।

Open Sources Operating system सस्ता होने व अधिक User Friendly होने के कारण ज़्यादातर Websites and Blogs Hosting के लिए Linux Hosting का Use करते हैं।

Where to Buy Hosting?
Hosting Provider
Hosting Provider

Web Hosting कहां से व कैसे खरीदें?   

वेब होस्टिंग Buy करने के लिए बहुत सारी Website उपलब्ध हैं जिन पर पहले अपना User Account Create करते हैं उसके बाद हमारे द्वारा दी गई Email Id पर Confirmation Email को Click करके Account को Activate करते हैं और दुबारा Hosting Website पर User के रूप में Sign In करते हैं।वहाँ परअपनी पसंद का Hosting Plan Choose करके Plan को Cart में add करें और Payment करने के बाद आपकी Hosting Buy करने की Process Complete हो जाएगी।

लेकिन Hosting Purchase करने से पहले अलग-अलग website पर नीचे दिये गये Points को अच्छी तरह से Compare कर लें ताकि आप ज्यादा से ज्यादा फायदा हो सके-

  • Customer Support
  • Down Time and Up Time
  • Disk Space
  • Bandwidth
  • RAM
  • CPU

ऊपर दिये गये सभी चीजों को अलग-अलग Websites पर जाकर देखें और Compare करें जो वेबसाइट 24X7  Customer Support  Available करवाती हो तथा Quickly Responsive होने  के साथ-साथ 99.9% Up Time और Zero Down Time Provide करे उसी से Hosting Purchase करनी चाहिए। इसके अलावा Other Resources, जो की ऊपर के Points में दिये हैं ज्यादा मात्रा में जो Website Provide करवाती है उसी से Hosting खरीदना हमारे Blog or Website के लिए अच्छा होगा।

अपेक्षा है की Web Hosting के ऊपर दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *